Unmadini (Stories) Subhadra Kumari Chauhan

उन्मादिनी (कहानी संग्रह) सुभद्रा कुमारी चौहान

सुभद्रा कुमारी चौहान जी का 'उन्मादिनी' दूसरा कहानी संग्रह है। यह कहानी संग्रह १९३४ में छपा। इस में उन्मादिनी, असमंजस, अभियुक्त, सोने की कंठी, नारी हृदय, पवित्र ईर्ष्या, अंगूठी की खोज, चढ़ा दिमाग, व वेश्या की लड़की कुल ९ कहानियां हैं। इन सब कहानियों का मुख्य स्वर पारिवारिक सामाजिक परिदृश्य ही है।


 
 Hindi Kavita