Sooraj Aur Chand: Lok-Katha (Andaman & Nicobar)

सूरज और चाँद: अंडमान निकोबार की लोक-कथा

अण्डमानी लोग सूरज (चान-आ-बोथो) को चाँद (माई-ता-अ-गर) की पत्नी और सितारों को उनके बच्चे मानते हैं।
चाँद पूरे दिन सोता है और सूरज के जाने पर जागता है।
उनका भोजन पुलुगा (भगवान) के घर पर बनता है। घर के भीतर नहीं, बाहर।
उनका मानना है कि सूरज आग में लिपटा है और उसके दो सींग हैं।
चाँद गोरा चिट्टा है और लम्बी दाढ़ी रखता है।

(प्रस्तुति: बलराम अग्रवाल)

 
 
 Hindi Kavita