Sachidananda Hirananda Vatsyayan "Agyeya"
सच्चिदानंद हीरानंद वात्स्यायन "अज्ञेय"

सच्चिदानंद हीरानंद वात्स्यायन "अज्ञेय" (7 मार्च,1911-4 अप्रैल,1987) कवि, कथाकार, ललित-निबन्धकार, सम्पादक और सफल अध्यापक थे। उनका जन्म उत्तर प्रदेश के देवरिया जिले के कुशीनगर में हुआ। बचपन लखनऊ, कश्मीर, बिहारऔर मद्रास में बीता। प्रारंभिक शिक्षा-दीक्षा पिता की देख रेख में घर पर ही संस्कृत, फारसी, अंग्रेजी और बांग्ला भाषा व साहित्य के अध्ययन के साथ हुई। बी.एस.सी. करके अंग्रेजी में एम.ए. करते समय क्रांतिकारी आन्दोलन से जुड़ गये। 1930 से 1936 तक विभिन्न जेलों में कटे। आप पत्र, पत्रिकायों से भी जुड़े रहे । 1964 में आँगन के पार द्वार पर उन्हें साहित्य अकादमी का और 1978 में कितनी नावों में कितनी बार पर भारतीय ज्ञानपीठ पुरस्कार मिला । आपके कहानी संग्रह: विपथगा 1937, परम्परा 1944, कोठरी की बात 1945, शरणार्थी 1948, जयदोल 1951 और आपने उपन्यास, यात्रा वृतान्त, निबंध संग्रह, आलोचना, संस्मरण, डायरियां, विचार गद्य: और नाटक भी लिखे ।

  • गोरा (उपन्यास)-रबीन्द्रनाथ टैगोर
  • एक थैला सीमेंट-याशिकी हायामा
  • अकलंक
  • अंगोरा के पथ पर
  • अछूते फूल
  • अभिशापित
  • अमरवल्लरी
  • अलिखित कहानी
  • आदम की डायरी
  • इन्दु की बेटी
  • एक घंटे में
  • एकाकी तारा
  • कलाकार की मुक्ति
  • कविता और जीवन : एक कहानी
  • कविप्रिया
  • कड़ियाँ
  • कैसांड्रा का अभिशाप
  • कोठरी की बात
  • खितीन बाबू
  • गृहत्याग
  • गैंग्रीन
  • चिड़ियाघर
  • छाया
  • जयदोल
  • जिजीविषा
  • जिज्ञासा
  • ताज की छाया में
  • द्रोही
  • दारोगा अमीचन्द
  • दुःख और तितलियाँ
  • देवीसिंह
  • नगा पर्वत की एक घटना
  • नम्बर दस
  • नयी कहानी का प्लॉट
  • नारंगियाँ
  • नीली हँसी
  • पगोड़ा वृक्ष
  • पठार का धीरज
  • प्रतिध्वनियाँ
  • परम्परा: एक कहानी
  • पहाड़ी जीवन
  • पुरुष का भाग्य
  • पुलिस की सीटी
  • बन्दों का खुदा, खुदा के बन्दे
  • बदला
  • मनसो
  • मिलन
  • मुस्लिम-मुस्लिम भाई-भाई
  • मेजर चौधरी की वापसी
  • रमन्ते तत्र देवता
  • रोज
  • लेटर-बॉक्स
  • वसन्त
  • विपथगा
  • विवेक से बढ़ कर
  • वे दूसरे
  • शरणदाता
  • शत्रु
  • शान्ति हँसी थी
  • शिक्षा
  • सभ्यता का एक दिन
  • स्मृति के गलियारों से
  • साँप
  • सिगनेलर
  • सूक्ति और भाष्य
  • सेब और देव
  • हजामत का साबुन
  • हरसिंगार
  • हारिति
  • हीली बोन् की बत्तखें
  • क्षमा
  • वसंत का अग्रदूत (संस्मरण)